अनजान से सेक्स Archive

लाइट ऑफ थी बीवी को चोदने की जगह दीदी को चोद डाला

Hindi Sex Kahani मेरी उम्र 23 वर्ष हो रही है। मेरे परिवार में मात्र तीन लोग रहते हैं, मैं, मेरी माँ और मेरी पत्नी ! और हाँ एक और सदस्य आज ही आया जो हमारे ही बीच

पूजा दीदी और अंकल की लड़की रूपाली को लेस्बियन सेक्स करते पकड़ा

sex story आप सभी ने मेरी कहानी मौसी ने मुझे मुठ मारते पकड़ा जरूर पढ़ा होगा जिसमे मैंने अपनी मौसी को खूब रगड़ कर चोदा हैं और अब मैं अपने अंकल के यहाँ छुटियों में आया हूँ

फेसबुक से लड़की पटा कर मस्त चुदाई किया

chudai stories मेरा नाम राज है, मैं छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूँ ये मेरी पहली कहानी है, मैं 23 साल का स्लिम फिट लड़का हूँ। मैं दूसरे लोगो की तरह झूठ नहीं बोलूंगा। मेरा लंड 5.3 इंच

माँ की चूत के बाल और दादाजी का बूढा लंड

है दादा जी 65 साल के है। जब मैं 18 साल की थी तब मैं कुछ ऐसा देखी जो मेरे लिए सोचना भी नामुमकिन था। गरमी का दिन था हमारे घर कूलर नहीं है पंखा से काम

मौसी की लड़की ने लंड पकड़कर चोदना सिखाया

मैं एक बहुत गरीब परिवार से था मेरे घर में मम्मी पापा और दादा है हम लोग बड़ी मुश्किल से अपनी जरूरतें पूरा करते थे। जब मैं 19 साल का हुआ मुझे कॉलेज की पढाई करनी थी

बीमार बहन की चूत के दर्शन हुए

मेरी बहन का नाम सोनिया है उसकी उम्र 23 साल है, मेरी दीदी मुझ से 4 साल बड़ी है। दीदी का रंग सांवला है लेकिन दिखने में बहोत सुन्दर है, दीदी एम ए की पढाई कर रही

बच्चे के लिए मुझे जेठ जी से कई बार चुदवाना पड़ा

मेरा घर कानपुर में रावतपुर में पड़ता है। मेरी शादी एक बहुत ही अच्छे परिवार में हुई थी। मेरी ससुराल में ससुर, सास, देवर, जेठ और जिठानी थे। मेरी 2 नन्द थी जिनकी शादी हो चुकी थी।

अपनी बीवी को उसके बॉयफ्रेंड से रगड़कर चुदवा दिया

कॉलेज में मेरी मुलाक़ात एक बड़ी ही खूबसूरत लड़की से हो गयी थी। उसका नाम प्रिया रानी था। उसका जिस्म काफी भरा हुआ था। उसे देखते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता था। मन करता था की

मेरी शादीशुदा दीदी को पहले दोस्त ने चोदा फिर मैंने चूत मारी

मैं पिछले कई सालों से इसका नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती तब मैं इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ नही पढ़ता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ

साथ पढ़ाने वाली टीचर की रसीली चूत चोदी और दूध पिया

दोस्तों मैं झांसी का रहने वाला हूँ. मैंने एक नये स्कूल में पढ़ाना शुरू किया था. वहां पर मुझे सिर्फ 4 हजार की मामूली सैलरी देने को उस कॉलेज के प्रिंसिपल ने कहा था. मैं बेरोजगार था.
loading...