Pehli Bar Chudai Archive

लाइट ऑफ थी बीवी को चोदने की जगह दीदी को चोद डाला

Hindi Sex Kahani मेरी उम्र 23 वर्ष हो रही है। मेरे परिवार में मात्र तीन लोग रहते हैं, मैं, मेरी माँ और मेरी पत्नी ! और हाँ एक और सदस्य आज ही आया जो हमारे ही बीच

पूजा दीदी और अंकल की लड़की रूपाली को लेस्बियन सेक्स करते पकड़ा

sex story आप सभी ने मेरी कहानी मौसी ने मुझे मुठ मारते पकड़ा जरूर पढ़ा होगा जिसमे मैंने अपनी मौसी को खूब रगड़ कर चोदा हैं और अब मैं अपने अंकल के यहाँ छुटियों में आया हूँ

भाभी मेरे कुंवारे लंड की प्यासी बनी

मेरे भईया पुणे में नौकरी करते है मैं अपने भैया भाभी के साथ रह कर पुणे से पढाई कर रहा था। मेरे भैया की शादी को 6 साल हो गए है और उनका अभी तक बच्चा नहीं

बीमार बहन की चूत के दर्शन हुए

मेरी बहन का नाम सोनिया है उसकी उम्र 23 साल है, मेरी दीदी मुझ से 4 साल बड़ी है। दीदी का रंग सांवला है लेकिन दिखने में बहोत सुन्दर है, दीदी एम ए की पढाई कर रही

कामवाली ने मेरा लंड पकड़ लिया और मुझसे लिपट गयी

मैं जबलपुर का रहने वाला हूँ, मेरी उम्र 21 साल है। मैंने कभी सेक्स नहीं किया था और सिर्फ बीवी से शादी के बाद सेक्स करने की सोचता था। अपने कॉलेज की पढाई करने के लिए घर

पॉवरकट ने दीदी को चोदने का मौका दिया

मेंरा नाम आकाश है मेरी लम्बाई 5 फुट 10 इंच है और स्लिम बॉडी यह मेरी फर्स्ट स्टोरी है प्लीज़ मुझे मैल जरुर करे यह मेरी लाइफ की सच्ची घटना है में पढ़ने में बहुत होशियार हूँ

मेरी शादीशुदा दीदी को पहले दोस्त ने चोदा फिर मैंने चूत मारी

मैं पिछले कई सालों से इसका नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती तब मैं इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ नही पढ़ता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ

सगी बहन ने मेरा मोटा लंड खाकर अपनी चुत की आग बुझाई

दोस्तों मेरी बहन रेखा पड़ोस के एक आवारा लड़के से फसी हुई थी। वो लड़का हर दिन मेरी बहन की चूत मारता था। एक सेक्स विडियो मेरे मोबाइल पर आया तो मैं बहुत खुश था की चलो एक

सेक्सी भांजे ने चूत को चोदकर मेरी प्यास बुझाई

मै बाँदा जिला में रहती हूँ। मेरी उम्र 35 साल है। मेरी फिगर 40,36,42 है। मैं सरकारी स्कूल में अध्यापिका हूँ। मै जब बच्चों को पढ़ाती हूँ। तो वो मेरे उभरे हुए मम्मे को देखते रहते हैं।

पड़ोस वाली आंटी को चोदकर चूत में मुट्ठी डाली

मेरा घर रांची (झारखंड) में पड़ता है। दोस्तों मेरे घर के सामने ही एक परिवार रहता था। वो लोग जाति के गुप्ता थे। गुप्ता जी वकील थे और रांची की कचेहरी में प्रैक्टिस करते थे। जबकि उनकी
loading...